Placeholder canvas

दिल्ली बिहार समेत कई राज्यों में जमीन पर गिरे टमाटर के भाव

जैसा कि आप जानते हैं बीते कुछ महीनो से टमाटर के भाव आसमान छू रहे थे। ऐसे में एक नई खबर सामने आई है। दिल्ली, बिहार समेत कई राज्यों में जमीन पर गिर चुके हैं टमाटर के भाव।

जी हाँ, बिल्कुल केंद्र नहीं शुक्रवार को सहकारी समितियां भारतीय राष्ट्रीय सहकारी उपभोक्ता संघ और भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन महासंघ लिमिटेड को थोक और खुदरा बाजारों में कीमतों में गिरावट को देखते हुए रविवार से टमाटर ₹40 प्रति किलोग्राम की दर से बेची जा रहे हैं।

₹40 प्रति किलो हुए टमाटर

NCCF और NAFED जुलाई से दोनों ही घरेलू उपलब्धता को बढ़ावा देने और मूल्य वृद्धि को नियंत्रित करने के लिए कई राज्यों में कम कर रहे हैं। दिल्ली एनसीआर, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और बिहार में उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय की ओर से रियायती दर पर टमाटर बेचे जा रहे हैं।

शुरुआत में ही मंत्रालय ने दोनों सहकारी समितियां को 90 रुपए प्रति किलोग्राम की रियायती दर पर टमाटर बेचने के लिए कहा था। इसके बाद यह कीमत घटकर ₹50 प्रति किलोग्राम कर दी गई थी, परंतु अब केवल यह कीमत घटकर ₹40 प्रति किलोग्राम रह गई है।

अब तक दोनों ही सहकारी समितियों द्वारा कुल 1500000 किलो ग्राम टमाटर की खरीदी की जा चुकी है। जिसका देश के प्रमुख उपयोग केंद्रों में हुए उपभोक्ताओं को लगातार निपटान किया जा रहा है और ऐसे में टमाटर हो को सस्ते भाव में बेचा जा रहा है।

कहां पर हुए सस्ते टमाटर

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि दिल्ली एनसीआर राजस्थान, (जयपुर, कोटा) उत्तर प्रदेश (लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, प्रयागराज) और बिहार (पटना, मुजफ्फरपुर, आरा, बक्सर) इत्यादि कई और राज्य इसमें शामिल है जहां पर टमाटर के भाव सस्ते हुए हैं।

NCCF और NAFED प्रमुख उपभोग केंद्रों में एक साथ निपटान के लिए आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट्र की मंडियों से टमाटर खरीद रहे हैं। जहां पर खुदरा कीमतों में पिछले 1 महीने से सबसे अधिक वृद्धि दर्ज की गई है। वहां पर अब सबसे कम कीमत पर टमाटर बिकते हुए दिखाई दे रहे हैं।

Leave a Comment