स्टेट टीचर अवॉर्ड 2023: दरभंगा के एक छोटे से गांव से निकलकर एक युवक देश की राजधानी दिल्ली में बच्चों के बीच संस्कृत की शिक्षा को लेकर अलख जगा रहा है। शिक्षक दिवस के अवसर पर दिल्ली की शिक्षा मंत्री श्रीमती आतिशी मारलीना ने सरस्वती नारायण झा ‘बसंत’ को स्टेट टीचर अवॉर्ड 2023 से सम्मानित किया। सरस्वती नारायण झा ‘बसंत’ वर्तमान में दिल्ली सरकार के राजकीय वरिष्ठ बाल विद्यालय न 4 सरोजिनी नगर में संस्कृत विषय के शिक्षक हैं। मूल रूप से दरभंगा के रामपुर डीह गांव के निवासी सरस्वती नारायण झा ‘बसंत’ के दादाजी स्व. शिवशंकर झा भी संस्कृत व ज्योतिष शास्त्र के विद्वाण रह चुके हैं।

श्री देवनारायण झा व निर्मला देवी के द्वितीय सुपुत्र सरस्वती नारायण झा ‘बसंत’ ने शुरुआती जीवन में कठिन संघर्षों का सामना करते हुए अपनी शिक्षा दीक्षा पूर्ण की। D N High school पंचोभ से प्राथमिक शिक्षा ग्रहण करने के बाद लगमा ब्रम्हचार्याश्रम से शास्त्री की उपाधि अर्जित की। इसके बाद सदाशिव परिसर, पुरी से B Ed की मानद उपाधि प्राप्त करने के बाद रामजस कॉलेज दिल्ली यूनिवर्सिटी से MA की डिग्री प्राप्त की। साल 2009 में इनका चयन दिल्ली सरकार के शिक्षक के तौर पर हुआ।

कहते हैं कि योग्य गुरु अगर मिल जाए तो शिष्य का कल्याण होना सुनिश्चित है, सरस्वती नारायण झा ‘बसंत’ अपनी इस सफलता का श्रेय अपने माता-पिता, दादा जी व परिवार के अलावा स्व. डॉ विद्देश्वर झा को देते हुए कहते हैं कि मैं अपना ये सम्मान आदरणीय गुरुजी को समर्पित करता हूं। दिल्ली में रहने के बावजूद सरस्वती नारायण झा ‘बसंत’ अपनी संस्कृति और मिट्टी से जुड़ाव रखते हैं और मिथिला मैथिली के प्रति समर्पित रहने वाली संस्था मिथिला युवा मंच, कटवारियासराय के महासचिव पद पर रहकर अनेक प्रकार की सांस्कृतिक गतिविधियों में सक्रियता के संग कार्य करते रहे हैं। सरस्वती नारायण झा संस्कृत भाषा को आम जन के बीच लोकप्रिय बनाने हेतु विशेष तौर पर बच्चों के लिए सरल तरीके को विकसित करने की कार्य योजना पर कार्य कर रहे हैं।

स्टेट टीचर अवॉर्ड 2023 मिलने से गांव डीहरामपुर में हर्ष का माहौल

उनके गांव डीहरामपुर में भी हर्ष का माहौल है, मिथिला युवा मंच के अध्यक्ष पंकज प्रसून झा ने हर्ष व्यक्त करते हुए कहा है कि ये सम्मान संपूर्ण मिथिला के लिए गर्व की बात है और अति शीघ्र मंच की तरफ से सम्मान समारोह आयोजित किया जाएगा। सरस्वती नारायण झा बसंत की इस सफलता पर विद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ हितेंद्र यादव, शिक्षक रवि प्रकाश शर्मा, राज कुमार चौहान समेत देश भर में मिथिला मैथिली से विजय झा, , कृष्ण कांत ठाकुर, राम सेवक ठाकुर, संतोष मिश्र, सुजीत झा, मनोज झा एवं अन्य लोगों ने हजारों की संख्या में हर्ष व्यक्त करते हुए बधाई संदेश दिया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *