Bihar Education Department द्वारा निर्देश जारी किये गए हैं जिसके तहत अब सरकारी स्कूलों में शिक्षक क्या पढ़ा रहे हैं, उनके टॉपिक क्या रहते हैं आदि का दस्तावेजीकरण किया जायेगा। प्रदेश के 78 हजार से भी अधिक सरकारी स्कूलों में पढ़ा रहे 4,38,880 शिक्षकों को अब शिक्षा विभाग द्वारा एक डायरी उपलब्ध करवाई जाएगी।

Bihar Education Department द्वारा दी जाने वाली इस डायरी में शिक्षकों को अपनी क्लास में अध्यापन संबंधी गतिविधियां दर्ज करनी होंगी। उन्हें इसमें लिखना होगा कि उन्होंने रोजाना क्या पढ़ाया, टॉपिक क्या था आदि। उन्हें दूसरी क्लास में जाने से पहले की तैयारियों से सम्बन्धी नोट भी लिखना होगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार कक्षा एक से लेकर बारह तक के सभी शिक्षकों को यह डायरियां उपलब्ध करवाई जाएंगी।

बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के एक्सपर्ट द्वारा इस डायरी में नोट करने के बिंदु तैयार किया जा रहे हैं। स्कूली शिक्षकों को रूटीन शैक्षणिक गतिविधियां दर्ज करने हेतु डायरी पहली बार मिल रही है। प्रोजेक्ट से जुड़े एक्सपर्ट्स के मुताबिक शिक्षकों को दी जा रही डायरी कक्षाओं में होने वाले आकस्मिक निरीक्षण के दौरान आधार बनेगी।

Bihar Education Department ने आमंत्रित किये टेंडर

फिलहाल डायरी के प्रकाशन हेतु Bihar Education Department द्वारा टेंडर आमंत्रित किये गए हैं। 11 सितंबर तक ऑनलाइन टेंडर भेजे जायेंगे। डायरी में संभवत: 384 पेज होंगे जो पूरी तरह रंगीन होने वाले हैं। इस काम को लेने वाली एजेंसी को डायरी की प्रिंटिंग, डिजाइन और जिला मुख्यालय तक डिलीवरी भी करनी होगी। इससे पहले बिहार के सरकारी स्कूल के बच्चों को डायरी दी गयी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *