सरकार ने 15 साल से अधिक पुरानी हो चुकी सरकारी गाड़ियों को ठिकाने लगाने की योजना बना ली है। शुक्रवार को इस बारे में जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री Nitin Gadkari ने कहा कि भारत सरकार अपने 15 साल से अधिक पुराने वाहनों को त्यागने और उन्हें कबाड़ में बदलने की तैयारी कर रही है। इससे संबंधित नीति राज्यों को भेजी जा चुकी है। वार्षिक कृषि प्रदर्शनी ‘एग्रो-विजन’ के उद्घाटन समारोह में गडकरी ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में एक फाइल पर हस्ताक्षर किये हैं।

योजना के अंतर्गत, भारत सरकार का प्लान है कि सभी 15 साल से अधिक पुराने वाहनों को कबाड़ में बदल दिया जाए। भारत सरकार की इस नीति को Nitin Gadkari ने सभी राज्यों के पास भेज दिया है और उन्हें भी अपने स्तर पर इसे अपनाने की सलाह दी है। आपको बता दें कि सरकार मोटर व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी के तहत इस योजना की सहायता से 15 साल से पुरानी गाड़ियों को हटाने के लिए प्रतिबद्ध है।

हर जिले में खोले जायेंगे तीन वाहन कबाड़ केंद्र

कुछ समय पहले, Nitin Gadkari ने जानकारी दी कि सरकार की योजना है कि देश के हर जिले में कम से कम तीन पंजीकृत वाहन कबाड़ केंद्र खोले जाएं। उन्होंने बताया कि सड़क मंत्रालय के पास रोपवे, केबल कार और फनिक्युलर रेलवे को लेकर 206 प्रस्ताव आये हैं। सरकार की तरफ से हर जिले में तीन पंजीकृत वाहन कबाड़ केंद्र खोले जा सकते हैं।

पिछले साल अगस्त महीने में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा नेशनल व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी की शुरुआत करते हुआ कहा गया था कि इसका उद्देश्य पुराने हो चुके और प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों को चरणबद्ध तरीके से खत्म करना है। इसके साथ ही यह योजना संसाधनों का सही तरीके से उपयोग करने वाली अर्थव्यवस्था को भी प्रोत्साहित करेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *